• Wed. Feb 1st, 2023

तेलंगाना से आज बजेगा तीसरे मोर्चे का बिगुल? BRS की रैली में दिखेंगे अरविंद केजरीवाल और अखिलेश यादव, KCR दिखाएंगे ताकत

लोकसभा चुनाव 2024 (Loksabha Chunav 2024) से ठीक पहले तीसरे मोर्चे (Third Front) की सुगबुगाहट तेज हो गई है. तेलंगाना (Telangana) से निकलकर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी छाप छोड़ने की कोशिशों में जुटे तेलंगाना में सत्तारूढ़ बीआरएस (BRS Rally) यानी भारत राष्ट्र समिति (Bharat Rashtra Samithi) के प्रमुख केसीआर (KCR Rally Today) आज विशाल रैली करने जा रहे हैं. आज यानी बुधवार को खम्मम शहर में बीआरएस एक विशाल जनसभा आयोजित करेगी, जिसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान, केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन, समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के डी राजा शामिल होंगे.

इस जनसभा को राजनीतिक रूप से अहम माना जा रहा है क्योंकि यह तेलंगाना राष्ट्र समिति द्वारा अपना नाम बदलकर बीआरएस करने के बाद उसकी पहली जनसभा है और साथ ही इसमें विभिन्न विपक्षी दलों बीआरएस, आम आदमी पार्टी (आप), समाजवादी पार्टी (सपा) और वाम दलों के नेता एक साथ दिखाई देंगे. बीआरएस अध्यक्ष और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव (K. Chandrashekar Rao) तथा अन्य नेता बुधवार को खम्मम जाने से पहले हैदराबाद के समीप यदाद्री में भगवान लक्ष्मी नरसिम्हा स्वामी मंदिर जाएंगे जिसका राव सरकार ने व्यापक स्तर पर पुनरुद्धार किया है. मााना जा रहा है कि इस विशाल जनसभा में 2 लाख से अधिक की भीड़ जुटेगी.

बीआरएस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद बी विनोद कुमार ने बताया कि हैदराबाद से करीब 200 किलोमीटर दूर खम्मम में ये नेता तेलंगाना सरकार के नेत्र जांच कार्यक्रम ‘कांति वेलुगु’ के दूसरे चरण के उद्घाटन में शामिल होंगे. उन्होंने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार में धर्मनिरपेक्षता, समाजवाद और उदारवाद समेत संविधान की आत्मा को कमजोर किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बीआरएस देश में ‘वैकल्पिक राजनीति’ लाने का प्रयास कर रही है.

यह पूछने पर कि क्या खम्मम जनसभा को 2024 में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर विपक्षी एकता की ओर एक कदम के तौर पर देखा जा सकता है, इस पर कुमार ने कहा कि यह केवल बार-बार दोहराए जाने वाले ‘मोर्चे’ का गठन नहीं है और बीआरएस देश के लोगों को ‘वैकल्पिक राजनीति’ देना चाहेगी. इस बीच भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष और सांसद बंदी संजय कुमार ने अन्य राज्य के मुख्यमंत्रियों को यदाद्री मंदिर में ले जाने के लिए केसीआर के नाम से मशहूर मुख्यमंत्री राव पर निशाना साधा और कहा कि कल्वाकुंतला परिवार के लिए मंदिर उद्योग केंद्र बन गए हैं. क्या केसीआर बीआरएस खम्मम जनसभा के मद्देनजर दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों को यह दिखाने के लिए ले जा रहे हैं कि हिंदू मंदिर निवेश का एक अवसर है?’

admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *