• Tue. Feb 27th, 2024

UP-नोएडा अथॉरिटी के खिलाफ सैकड़ो किसानों ने किया विरोध प्रदर्शन, नोएडा प्राधिकरण का किया घेराव

यूपी के नोएडा अथॉरिटी के खिलाफ सैकड़ो किसानों ने हल्ला बोल जमकर हंगामे बाज़ी कर नोएडा प्राधिकरण का घेराव किया गया।
किसानों ने 10 प्रतिशत आबादी के भूखंड, 64.7 प्रतिशत मुआवजा देने सहित कई मांगों को लेकर एक बार फिर नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ हल्ला बोल दिया है। नोएडा के तमाम गांवों के किसान सेक्टर-5 स्थित बारातघर पर इकट्ठा होकर पैदल मार्च करते नोएडा प्राधिकरण पहुंचे और धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया. किसानों का कहना है कि उनकी मांग प्राधिकरण पूरी नहीं कर रहा है।

दूसरी तरफ, किसानों की भीड़ को देखते हुए गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट की ओर से भारी फोर्स तैनात की गई है। मौके पर ज्वाइंट सीपी आनंद कुलकर्णी समेत कई थानों की पुलिस तैनात है।

यह सैलाब किसानों का जिसमें बडी संख्या में महिलाए भी शामिल है अपनी मांगो को लेकर नोएडा प्राधिकरण पर पहुंचा है. इनका कहना है, कई बार धरना प्रदर्शन कर चुके हैं। लेकिन, हर बार उन्हें सिर्फ कोरे आश्वासन की घुट्टी ही मिली। किसानों की मांगें अब तक पूरी नहीं हुईं। आंदोलन की अगुआई कर रहे सुखबीर खलीफा ने कहा, “किसानों को 10 प्रतिशत आबादी के भूखंड, 64.7 प्रतिशत मुआवजा देने सहित कई मांगों के लिए लगातार संघर्ष किया जा रहा है। जब तक हमारा हक दिया नहीं जाएगा, तब तक लड़ाई जारी रहेगी। हमें केवल झूठे वादे नहीं चाहिए। अब हमें ठोस कार्रवाई चाहिए। तत्काल प्रभाव से हमारा मुआवजा चाहिए।

भूमि अधिग्रहण के 50 साल बाद भी किसानों को उनका हक नहीं दिया गया है। किसान अपनी मांगों को लेकर काफी सालों से लड़ाई लड़ रहे हैं। इसके बावजूद इंसाफ की रोशनी कहीं भी दिखाई नहीं दे रही है। जिसकी वजह से किसान दोबारा प्राधिकरण पर धरना देने को मजबूर हैं। हमारी मांगें नहीं मानी गईं तो नोएडा प्राधिकरण में परमानेंट ताला जड़ देंगे। इस बार किसानों को जीत दिलवाकर ही दम लेंगे।
किसानों ने वर्ष-2021 में 4 माह और वर्ष-2023 में 3 माह नोएडा प्राधिकरण पर धरना दिया था। लेकिन, अंत में अथॉरिटी से समझौते के बाद धरना समाप्त कर दिया गया था। इस बार किसानों की भीड़ को देखते हुए गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट की ओर से भारी फोर्स तैनात की गई है। मौके पर ज्वाइंट सीपी आनंद कुलकर्णी समेत कई थानों की पुलिस तैनात है। पुलिस और किसान नेता सुखवीर खलीफा के बीच बातचीत उन्हे मनाने में जुटी है ।

By admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *