• Fri. Feb 23rd, 2024

UP-लखनऊ में स्वमं सेवी उम्मीद संस्था ने की अच्छी पहल,भीख माँगना छोड़ बच्चो की खेल कूद प्रतियोगिता कराकर किया पुरस्कृत

यूपी के लखनऊ में स्वमं सेवी उम्मीद संस्था के बैनर तले सैकड़ो भीख मांगना बच्चो को छोड़ने की एवज़ में संस्था ने बाकायदा खेल कूद प्रतियोगिता का आयोजन कराकर बच्चो को सम्मानित भी किया गया साथ ही कार्यक्रम में यूपी की राज्यपाल महोदया आनंदीबेन पटेल को मुख्य अतिथि के तौर पर बुलाकर बच्चो को पुरस्कृत किया गया बच्चो ने अलग अलग खेल कूद में भाग लेकर कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई।

संस्था द्वारा प्रोत्साहित करने के लिए ‘भिक्षा से शिक्षा की ओर’ कार्यक्रम का गुब्बारे उड़ा कर आयोजन किया। इस अवसर पर स्वयं सेवी संस्था उम्मीद के संस्थापक ने बताया कि, यह खेल प्रतियोगिता भिक्षावृत्ति से मुक्त कराये गये मात्र 60 बच्चों से शुरू की गयी थी, जो आज लगभग 500 बच्चों तक पहुंच गयी है।*
इस प्रतियोगिता में 3.5 वर्ष से लेकर 16 वर्ष की आयु वर्ग तक के बच्चे ने विभिन्न खेलों में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि, आज राजभवन छोटे बच्चों की किलकारियों से गूंज रहा है। मुझे यहां छोटे-छोटे बच्चों का उत्साह एवं आत्मविश्वास देखने को मिला। इसे देखकर बहुत खुशी हुई जीवन में खेल बहुत महत्वपूर्ण है। आज हम खेलना भूल गये हैं। अब सिर्फ सर्टिफिकेट प्राप्त करना ही पढ़ाई का उद्देश्य रह गया है। इसलिए खेल के प्रति बच्चों में उत्साह व जागरूकता पैदा करने के लिए इस प्रकार के परंपरागत खेलों का आयोजन आवश्यक है। इस मौके पर बच्चों ने तरह-तरह खेल खेले बच्चों ने रेस लगाई और तमाम तरह के खेलों का आनंद लिया। कार्यक्रम में मौजूद महिला कल्याण, बाल विकास एवं पुष्टाहार मंत्री बेबी रानी मौर्य ने कहा कि,सड़कों पर भिक्षा मांगने वाले बच्चों को सड़क से हटाकर उन्हें संबल प्रदान करना, संरक्षण देना तथा शिक्षा से जोड़ना हम सभी का कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि सरकार तथा समाज का दायित्व है कि, वे उनके अभिभावकों को भी जागरूक करें ताकि भविष्य में वे अपने बच्चों से भिक्षावृत्ति न कराते हुए उन्हें शिक्षा से जोड़े। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भिक्षावृत्ति में समलिप्त बच्चों को इस पेशे से विमुक्त करने तथा उन्हें शिक्षा के माध्यम से समाज की मुख्य धारा में जोड़ने के लिए आगे लाने पर बहुत ही खुशी जाहिर की, उन्होंने विश्वविद्यालय को भी इस कार्य में सहयोग करने के लिए कहा और इस तरह के कार्य लगातार होते रहने चाहिए ताकि देश भिक्षावृत्ति जैसे अंधेरे में ना जा सके। बता दे कि, इस कार्यक्रम में लखनऊ की मेयर सुषमा खर्कवाल, अपर मुख्य सचिव राज्यपाल डा0 सुधीर एम0 बोबडे, सलाहकार मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश अवनीश कुमार अवस्थी, बड़ी संख्या में बच्चे उपस्थित रहे।

By admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *