• Mon. Jun 17th, 2024

इजरायल ने सेंट्रल गाजा में स्कूल पर एयर स्ट्राइक कर किया हमला, अबतक 32 लोगो की मौत

Report By : Ankit Srivastav, ICN Network

हमास के खिलाफ जंग के बीच इजराइल ने सेंट्रल गाजा में एक स्कूल पर फाइटर जेट्स से एयरस्ट्राइक कर दी । इस हमले में अब तक 32 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं हमास के अल-अक्सा मीडिया ने बताया कि अटैक में 39 लोगों ने जान गंवाई है। टाइम्स ऑफ इजराइल के मुताबिक, इजराइल की डिफेंस फोर्स IDF ने इस हमले की पुष्टि की है।

IDF ने दावा किया है कि UNRWA के इस स्कूल में हमास की नुखबा फोर्स के लड़ाकों ने पनाह ले रखी थी। इजराइल ने एयरस्ट्राइक में उन्हें ही निशाना बनाया। अलजजीरा के मुताबिक, मरने वालों में महिलाएं और बच्चे शामिल थे।

दरअसल, इजराइल-हमास के बीच जंग शुरू होने के बाद से फिलिस्तीनियों ने स्कूलों और अस्पतालों में पनाह ले रखी है। जंग के शुरुआती कुछ महीनों में 10 लाख से ज्यादा बेघर फिलिस्तीनियों ने गाजा के स्कूलों में शरण ली थी। फिलिस्तीन की वाफा न्यूज एजेंसी के मुताबिक, इजराइल ने जिस स्कूल में हमला किया, वहां नुसीरात रिफ्यूजी कैंप मौजूद है।

IDF ने दावा किया है कि स्कूल पर हमले से पहले इसके लिए पूरी प्लानिंग की गई थी। इस दौरान इस बात पर खास ध्यान दिया गया था कि वहां मौजूद आम नागरिकों को ज्यादा नुकसान न पहुंचे। इसके लिए हवा के रास्ते इलाके की निगरानी की गई थी। इसके अलावा वहां मौजूद इजराइल के इंटेलिजेंस सोर्स के जरिए भी जानकारी इकट्ठा की गई थी।

इजराइल के हमला के बाद गाजा में मौजूद हमास के नेतृत्व वाली सरकार के मीडिया ऑफिस ने भी बयान जारी किया। उन्होंने स्कूल पर हमले को नरसंहार बताया। मीडिया ऑफिस के प्रवक्ता इस्माइल अल-थावब्ता ने कहा कि घायलों को अल-अक्सा मार्टियर अस्पताल में भर्ती किया गया है।

गाजा के 183 स्कूलों को रिफ्यूजी कैंप बनाया गया अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक, UN की रिलीफ एंड वर्क एजेंसी (UNRWA) जंग से पहले तक गाजा में 183 स्कूलों को ऑपरेट करता था। जंग शुरू होने के बाद से इन स्कूल की इमारतों को रिफ्यूजी कैंप में तब्दील कर दिया गया है।

8 महीने से जारी इजराइल के हमलों में UNRWA की फैसेलिटीज में पनाह ले रहे 455 लोगों की मौत हुई है। इजराइल ने इससे पहले 11 और 13 अप्रैल को भी नुसीरत रिफ्यूजी कैंप में मौजूद स्कूलों पर 3 बार हमला किया था। इस दौरान 7 लोगों की मौत हुई थी।

रिपोर्ट के मुताबिक, UN की रिलीफ एंड वर्क एजेंसी (UNRWA) जंग से पहले तक गाजा में 183 स्कूलों को ऑपरेट करता था। जंग शुरू होने के बाद से इन स्कूल की इमारतों को रिफ्यूजी कैंप में तब्दील कर दिया गया है।

8 महीने से जारी इजराइल के हमलों में UNRWA की फैसेलिटीज में पनाह ले रहे 455 लोगों की मौत हुई है। इजराइल ने इससे पहले 11 और 13 अप्रैल को भी नुसीरत रिफ्यूजी कैंप में मौजूद स्कूलों पर 3 बार हमला किया था। इस दौरान 7 लोगों की मौत हुई थी।

By admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *