• Sat. Jul 20th, 2024

ग्रेटर नोएडा की सोसाइटी में मां बेटी लिफ्ट में फंसी, एक घंटे बाद इंजीनियर ने निकाला,पीड़ित करेंगे पुलिस से शिकायत

Report By : Ankit Srivastav, ICN Network

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में लिफ्ट अटकने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला पंचशील हाईनीस सोसाइटी में देखने को मिला। जब अचानक से एक लिफ्ट अटक गई। इस लिफ्ट के अंदर मां बेटी फंस गए और करीब एक घंटे तक वह लोग इसी लिफ्ट के अंदर फंसे रहे। मेंटेनेंस विभाग के लोग लिफ्ट खोलने की कोशिश करते रहे लेकिन वह लिफ्ट को खोल नहीं पाए। जब बाद में एक इंजीनियर को बुलाया गया तो उसने लिफ्ट को खोला।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की पंचशील हाईनिश सोसाइटी के 12वें फ्लोर पर रहने वाले मनीराम गुप्ता ने बताया कि गुरुवार रात में उनकी पत्नी सीमा और बेटी अपने फ्लैट से नीचे लिफ्ट द्वारा ग्राउंड फ्लोर पर जा रहे थे। जैसे ही वह लोग ग्राउंड फ्लोर पर पहुंचे, अचानक से लिफ्ट में झटका लगा और लिफ्ट अटक गई।लिफ्ट का दरवाजा नहीं खुला। इसके बाद लिफ्ट के अंदर बंद मेरी पत्नी और बेटी काफी घबरा गए। उन्होंने इमरजेंसी बटन को भी दबाया और शोर मचाना शुरू कर दिया। इसके बाद वहां पर मौजूद मेंटेनेंस विभाग के लोग पहुंचे लेकिन वह लोग भी लिफ्ट को नहीं खोल पाए।

लिफ्ट बंद होने की वजह से उसमें काफी सफोकेशन होने लगा। जिससे कि मेरी पत्नी और बेटी को परेशानी होने लगी। वहां पर मौजूद लोगों के द्वारा लिफ्ट को लगातार खोलने की कोशिश की जा रही थी लेकिन किसी से भी वह लिफ्ट नहीं खुली। लिफ्ट में बंद होने की वजह से मां बेटी काफी घबरा गई। जब 1 घंटे तक भी लिफ्ट नहीं खुली तो एक इंजीनियर को बुलाया गया और उसके द्वारा फिर लिफ्ट को खोला गया।

मनीराम गुप्ता ने बताया कि सोसाइटी में मोटा मेंटेनेंस चार्ज वसूला जाता है। लेकिन यहां पर लोगों की जान भी सुरक्षित नहीं है। उनकी बेटी और पत्नी एक घंटे तक लिफ्ट के अंदर फंसे रहे और उनकी तबीयत तक खराब हो गई लेकिन यहां पर मौजूद स्टाफ के द्वारा लिफ्ट को नहीं खोला गया। उन्होंने कहा कि सोसाइटी में कोई भी लिफ्ट मैन मौजूद नहीं है। फिलहाल इस मामले में वह मुकदमा दर्ज करवाने की बात कह रहे हैं।इस मामले में बिल्डर और मेंटेनेंस विभाग के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएंगे। गौरतलब है कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट में आए दिन हाईराइज सोसाइटी में लिफ्ट अटकने के मामले सामने आते हैं।

By admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *