• Mon. Feb 26th, 2024

UP-अयोध्या की बेटि ने पीसीएस 2023 परीक्षा में मारी बाज़ी, निधि शुक्ला टॉप 10 में शामिल…

यूपी के अयोध्या में बहुप्रतीक्षित पीसीएस परीक्षा 2023 का परिणाम उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग प्रयागराज द्वारा जारी कर दिया गया हैं। रामनगरी अयोध्या की रहने वाली निधि शुक्ला ने उत्तर प्रदेश पीसीएस में आठवीं रैंक प्राप्त कर परिवार के साथ-साथ अयोध्या जनपद का नाम की रोशन किया है।

निधि शुक्ला का यह दूसरा प्रयास था जब उसने पीसीएस में प्रदेश में आठवीं रैंक और छात्रा वर्ग में दूसरी रैंक प्राप्त की है, निधि शुक्ला ने बताया कि उसके पिता इस दुनिया में नहीं है और उनका सपना था उसकी बेटी अधिकारी बने और आज उसने अपने पिता का सपना पूरा कर दिया और आज वह एसडीएम के पद पर नियुक्त हो गई है, टॉपर निधि शुक्ला की मां मनोरमा शुक्ला ने बताया कि इसके पिता इस दुनिया में नहीं है उसके पिता का सपना था कि उसकी बेटी अधिकारी बने और उसकी बेटी ने आज अपने पिता का सपना पूरा कर दिया है

यह हमारे परिवार का संस्कार है कि आज बेटी एसडीएम बन गई है, दरअसल निधि शुक्ला की प्रारंभिक शिक्षा छत्तीसगढ़ की कोरिया जनपद में हुई जहां से उसने हाई स्कूल की पढ़ाई किया, उस समय उसके पिता संतोष शुक्ला छत्तीसगढ़ के कोरिया जनपद में आदिवासी जनजाति विभाग में तैनात थे,

उनके निधन के बाद उनका परिवार अपने मूल निवास अयोध्या आ गया और निधि शुक्ला ने इंटरमीडिएट शहर के अनिल सरस्वती से कंप्लीट किया जबकि स्नातक की परीक्षा जनपद के ही दरबारी लाल विमला देवी अधियारी मिल्कीपुर से किया जबकि परास्नातक कुंवर चंद्रावती डिग्री कॉलेज कोटसराय से किया और उन्होंने अपने पहला प्रयास 2021 में किया जबकि 2023 की पीसीएस की परीक्षा में उत्तर प्रदेश में आठवीं रैंक प्राप्त की और छात्रा वर्ग में ये उनकी दूसरी रैंक है और अब निधि शुक्ला एसडीएम बन चुकी है।वहीं अयोध्या जिले के गुलाम का पुरवा (कौराह) निवासी कु० प्रगति उपाध्याय ने प्रथम प्रयास में ही आयोग की परीक्षा पास करते हुए डिप्टी जेलर का पद हासिल किया है। कु० प्रगति अपने परिवार में पांच भाई बहनों में सबसे बड़ी हैं। प्रगति के पिता पवन उपाध्याय पेशे से शिक्षक हैं और माता गृहणी हैं। प्रगति के चयन पर क्षेत्र और रिश्तेदारों में हर्ष का माहौल है। प्रगति के चयन पर परिजनों एवं रिश्तेदारों ने बधाई दी है। लोग एक दूसरे को मिठाई खिलाकर बधाई दे रहे हैं।

By ICN Network

Ankit Srivastav (Editor in Chief )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *