• Fri. Feb 23rd, 2024

UP-कानपुर सिटी के हार्ट स्पेशलिस्ट डॉक्टर नीरज कुमार ने कहा ,दिल के रोगियों के लिए ज़्यादा पानी पीना हो सकता है घातक

यूपी के कानपुर सिटी के जाने माने हार्ट स्पेशलिस्ट डॉक्टर नीरज कुमार ने सर्दी के लिहाज से दिल के रोगियों के लिए दी कई सलाह दिसम्बर-जनवरी की ठंड के निशाने पर है आपका दिल
धूप चमकने पर करे मार्निग वाॅक
गरम कपड़ों का करें इस्तेमाल
खानपान में बरतें सावधानी
बाहर की चीजों से बनाएं दूरी
-मानसिक तनाव से भी बचे
दिसम्बर माह में सर्दी बढ़ रहीं है। सभी को सावधानी रखने की जरूरत है। जरा सी लापरवाही आपकों बीमार कर सकती है। खासतौर पर ह्दयरोगी ठंड के मौसम में खास ध्यान रखे। सुबह जल्दी मार्निग वाॅक से बचे। सर्दी भर गरम कपड़े इस्तेमाल करे। सुबह-शाम होने वाली ठंड के निशाने पर आपका का ह्दय है।

उक्त जानकारी कार्डियोलाॅजी हाॅस्पिटल के ह्दयरोग विशेषज्ञ डाॅक्टर नीरज कुमार ने दी।
सर्दी में पड़ता है हार्ट पर प्रेशर
चिकित्सक ने बताया कि ठंड होने पर शरीर की रक्त वाहिकाएं सिकुड़ने से उनके अंदर रक्त का बहाव कम हो जाता है। इससे ब्लड का प्रेशर बढ़ता है और हार्ट को ब्लड पंप करने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है। ह्दय पर दवाब बनने पर एनजाइना की स्थिति उत्पन्न होती है। जो परेशानी का सवब बनती है। इस कारण सीने में दर्द या अटैक की समस्य प्रबल हो जाती है।
जनवरी माह सबसे अधिक खतरनाक
डाॅक्टर नीरज ने बताया कि ठंड तो सभी के लिए नुकसान वाली होती है। लेकिन हार्ट रोगियों के लिए दिसम्बर और जनवरी खतरनाक होती है। इन महीनों में तापमान तेजी से गिरता है। इस कारण ठंड अधिक होती है। शोध में यह बात निकल कर आई है कि इन महीनों में मरीजों की संख्या अत्याधिक होती है। सर्दी में शरीर का तापमान सामान्य रखने के लिए वाहिकाएं सिकुड़ती है। यही रक्तचाप बढ़ने का कारण बनता है। इसलिए विशेष सावधानी की आवश्यकता होती है।
सर्दी में पसीना आना खतरनाक
ठंड के मौसम में अगर आपको थोड़ा चलने पर थकावट या फिर सांस फूलती है या घबराहट होती है तो तत्काल इसे गंभीरता से ले। अपनी समस्या से चिकित्सक को अवगत कराएं। वरना यह परेशानी का कारण बन सकता है। डाॅक्टर की सलाह पर ही कोई दवा का सेवन करे। बहुत आवश्यकता न हो तो ठंड में बाहर जाने से बचे। खासतौर से सुबह और शाम। दिन में अगर धूप है तो उसका सेवन करे।
फाइबर वाली चीजों का करें इस्तेमाल
विशेषज्ञ ने बताया कि ठंड के मौसम में चिकनी और तलीय चीजों से पूरी तरह परहेज करे। ओट्स, स्प्राउट्स, ब्राउन राइस और क्विनोआ जैसे साबुत अनाजों का खूब सेवन करे। इनमें अत्याधिक मात्रा में फाइबर होता है। यह अनाज कोलेस्ट्ाॅल के लेवल को डाउन करता है। दिल को मजबूती देता है। इनता नहीं इनमें मैग्नीशियम और पोटेशियम जैसे खनिज भी भरपूर मात्रा में होते है जो ब्लड प्रेशर को ठीक रखने का काम करते है।
हार्ट पेशेंट अधिक पानी पीने से बचे
अगर आप ह्दयरोगी है तो आवश्यकता से अधिक पानी पीने का प्रयास न करे। अधिक प्यास लगती है तो पहले अपने डाॅक्टर से सलाह ले। अधिक पानी कई बार हानिकारक साबित होता है। पानी पीने के हिसाब से यूरिन होना चाहिए। जबतक ठंड का प्रकोप रहे मरीज को चिकित्सक के सम्पर्क में रहना चाहिए।

By admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *