• Fri. Jun 14th, 2024

नोएडा प्राधिकरण ने किया सर्वे,27 बिल्डर पर 25 प्रतिशत रकम जमा न करने पर होगी। सीलिंग की कार्यवाई

Report By : Ankit Srivastav, ICN Network

नोएडा प्राधिकरण में 27 ऐसे बिल्डर है जिनकी परियोजना में खाली फ्लैट, प्लाट, दुकान धरोहर राशि का सर्वे किया गया। इसकी एक डिटेल बना गई। ये सर्वे सर्किल वार किया गया। इस महीने तक ये बिल्डर अमिताभ कांत की सिफारिश के तहत 25 प्रतिशत पैसा जमा नहीं करते तो इनकी प्रॉपर्टी को सील किया जाएगा।

इनमे 12 बिल्डर ऐसे है जिन्होंने अमिताभ कांत की सिफारिश के तहत न तो सहमति दी और न ही ये प्राधिकरण की ओर से आयोजित बैठक का हिस्सा बन रहे है। इन पर करीब 1696 करोड़ से ज्यादा का बकाया है।

नोएडा में 57 में से 22 बिल्डरों ने 25 प्रतिशत धनराशि रुपए 173.77 करोड़ जमा करा दी है। इन 20 बिल्डरों से नोएडा प्राधिकरण को लगभग रुपए 450 करोड़ मिलेगा।

4 बिल्डरों द्वारा कुल 25 प्रतिशत धनराशि 83.47 करोड़ में आंशिक धनराशि 53.68 करोड़ जमा कराई। 18 ऐसे बिल्डर है जिन्होंने 25 प्रतिशत धनराशि जमा कराने के लिए सहमति दी है। जिन बिल्डरो ने 25 प्रतिशत रकम दी उनसे कुल 1604 रजिस्ट्री होंगी।प्राधिकरण ने 01 मार्च, 29 अप्रैल और 08 मई को अलग अलग स्थानों पर कैंप लगाकर 530 रजिस्ट्री कराई।

12 बिल्डरों को प्राधिकरण की ओर से नोटिस जारी किया गया। जिसका जवाब भी अब तक नहीं दिया गया। ऐसे में इनकी प्रॉपर्टी का सर्वे कराया गया। ताकि इनको सील कर प्राधिकरण बकाया निकाले और रजिस्ट्री खोली जा सके।

प्राधिकरण एसीईओ वंदना त्रिपाठी ने बताया इन बिल्डरों की जो भी खाली इनवेंट्री प्रॉपर्टी है उसको सील किया जाएगा। ताकि बकाया मिल सके और रजिस्ट्री शुरू हो सके।

NCLT और कोर्ट केस वाले बिल्डर में की जाएगी पैरवी अमिताभ कांत की सिफारिश में कोर्ट केस और एनसीएलटी में जा चुके बिल्डर प्रोजेक्ट शामिल नहीं है। जबकि सबसे ज्यादा बकाया इन बिल्डर पर है। इन पर करीब 20 हजार करोड़ के आसपास का बकाया है। इसके लिए प्राधिकरण अब मजबूत पैरवी करने की बात कर रहा है।

By admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *