• Wed. Apr 17th, 2024

UP : महिला अपराध को लेकर डिम्पल यादव ने सरकार पर साधा निशाना‚ कहा उत्तर प्रदेश में ध्वस्त है कानून व्यवस्था…

Kannauj : कन्नौज जिले में पीडीए यात्रा को हरी झडी दिखाने तालग्राम पहुंची मैनपुरी से सांसद डिम्पल यादव ने बताया कि यह जो सपा की पीडीए यात्रा 100 दिन से चल रही है आज वह तालग्राम से निकली है उसी को हरी झंडी को दिखाने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। उन्होंने शिक्षक भर्ती के दौरान महिलाओं से हुई अभद्रता के सवाल पर कहा कि मै समझती हूं कि लगातार पूरे प्रदेश में महिलाओं के साथ अभ्रदता हो रही है। सरकार को यह बात मालूम है लेकिन वह आंख मूंदे बैठी हुई है। चाहे वह हमारे शिक्षक भर्ती का मामला हो और चाहे वह हमारे बनारस यूनिवर्सिटी का मामला हो‚ चाहे वह लगातार जो क्राइम के केसेज है जो जघन्य अपराध है महिलाओं के साथ लगातार उत्तर प्रदेश में बढ़ रहे है और सरकार की कोई भी कोशिश या कोई भी मंशा ऐसी दिखाई नहीं दे रही है‚ जहां पर वह इसमें विराम लगाने की कोशिश भी कर रही हो।

लखनऊ में इंस्पेक्टर की हत्या के मामले में बोली डिम्पल

मीडिया से रूबरू होते हुए सांसद डिम्पल यादव ने कहा कि मै कह रही हॅूं कि कानून व्यवस्था उत्तर प्रदेश में ध्वस्त है‚ खाली बुल्डोजर दिखाकर यह लोग अपनी कानून व्यवस्था को टीवी और सोशल मीडिया के माध्यम से दिखा रहे हैं लेकिन वास्तविकता में अगर आप जायेंगे और लोगों से पूछेंगे तो आपको पता चलेगा कि कितनी निराशाजनक परिस्थितियां बनी हुई है उत्तर प्रदेश में।

अखिलेश के कन्नौज से चुनाव लड़ने पर क्या बोली डिम्पल

सांसद डिंपल यादव बोली कि मै समझती हॅूं कि आने वाले समय में यह पता चल जायेगा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जी कहां से चुनाव लड़ेंगे और क्यों कि कन्नौज हमेशा समाजवादी विचारधारा का सूत्र रहा है और मेरा मानना है कि आदरणीय लोहिया जी से लेकर आदरणीय नेता जी‚ अखिलेश यादव जी और मुझे भी यहां के लोगों ने मौका दिया है और संसद में पहुंचाया है‚ जिसकी मै आभारी हॅूं तो मुझे लगता है कि लगातार रिश्ता रहा है कन्नौज के साथ और यह बरकरार रहेगा।

पाँच राज्यों के चुनाव में स्थिति को लेकर बोली डिम्पल

उन्होंने कहा कि मै समझती हॅूं कि बहुत ही अच्छे परिणाम आने की उम्मीद पूरी तरह है। उन्होंने युवाओं के रोजगार को लेकर कहा कि उत्तर प्रदेश के जो युवा है वह हताश है। नौकरियां नहीं है‚ किसी भी फील्ड में नौकरियां नहीं हैं और जो नौकरियां थी उसे भी सरकार ने खत्म करने का पूरा योजना बना रखी है कि कैसे लोगों को नौकरियों से दूर रखा जाये‚ तो मै समझती हॅूं कि एक तरह का षड्यंत्र है‚ जहां पर यह लोग नहीं चाहते है कि नौकरिया मिले लोगों को‚ समाज आगे बढ़े‚ क्यों कि सरकारी नौकरियों के साथ  – साथ आरक्षण भी मिलता है नौकरियों में और जब लोग आगे आएंगे तो मै यह समझती हूं कि यह लोग नहीं चाहते है कि हमारे युवा आगे बढ़े।

By admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *