• Sun. Jun 23rd, 2024

BJP ने जारी की ‘1.34 लाख करोड़ की ‘DMK Files’, विपक्ष ने कहा – अच्छा मजाक है…

Chennai : तमिलनाडु के बीजेपी प्रमुख के अन्नामलाई ने शुक्रवार (14 अप्रैल) को 1.34 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति की एक लंबी लिस्ट सार्वजनिक की है. लिस्ट जारी करते हुए अन्नामलाई ने दावा किया कि यह संपत्ति मुख्यमंत्री एमके स्टालिन के बेटे और खेल मंत्री उदयनिधि स्टालिन सहित डीएमके के प्रमुख नेताओं के पास है. इस लिस्ट में मंत्री दुरई मुरुगन, ईवी वेलु, के पोनमुडी, वी सेंथिल बालाजी और पूर्व केंद्रीय मंत्री एस जगतरक्षकन सहित अन्य मंत्री शामिल हैं.

के अन्नामलाई ने इस सिल्ट को ‘डीएमके फाइल्स’ का नाम दिया है. अन्नामलाई ने सीएम एमके स्टालिन पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि स्टालिन ने 2011 के विधानसभा चुनावों से पहले चेन्नई मेट्रो रेल के लिए कॉन्ट्रैक्ट मामले में एक कंपनी का पक्ष लेने की एवज में उन्हें दो सौ करोड़ रुपये की रिश्वत दी गई थी. उन्होंने आरोप लगाया कि पैसे का भुगतान शेल कंपनियों के जरिए किया गया. अमेरिका में उस कंपनी की रिश्वतखोरी के लिए जांच की गई थी.

महंगी घड़ी को लेकर पेश की सफाई

अपनी महंगी और विवादास्पद दसॉल्‍ट घड़ी की फंडिंग पर अन्नामलाई ने दावा किया कि उन्होंने इसे मई 2021 में अपने एक दोस्त चेरालथन से तीन लाख रुपये में खरीदा था, जिसे वे तब दो साल से जानते थे. साथ ही उन्‍होंने चेरालथन के द्वारा खरीद की रसीद पेश की, हालांकि अपनी खरीद के भुगतान का कोई प्रमाण नहीं दिया. ऊर्जा मंत्री सेंथिल बालाजी ने कुछ महीने पहले इस घड़ी की खरीद की रसीद पेश करने की मांग की थी, जिसके बाद अन्नामलाई ने यह सूची जारी की है.

पूर्व आईपीएस अधिकारी अपने खर्चों का प्रबंधन कैसे करते हैं, इसे लेकर अन्नामलाई ने कहा, “मुझे हर महीने खर्चे के लिए सात से आठ लाख की जरूरत होती है. मैं पार्टी और अपने दोस्‍तों की मदद से इसका प्रबंधन करता हूं. अन्‍य लोग मेरे स्‍टॉफ की सैलेरी में मदद करते हैं. आप मेरा बैंक स्टेटमेंट और क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट देख सकते हैं. यह मेरे जैसे पहली पीढ़ी के राजनेता के लिए एक चुनौती है.”

डीएमके ने आरोपों को बताया मजाक

अन्‍नामलाई के आरोपों पर जवाब देते हुए डीएमके सांसद आरएस भारती ने इसे ‘मजाक’ बताया है.

उन्होंने कहा, “रिश्वत देने का एक भी आरोप नहीं है. उनके द्वारा सूचीबद्ध सभी उम्मीदवारों ने अपने हलफनामों में अपनी संपत्ति का विवरण दिया है. यदि एक भी उल्लंघन होता है तो कोई भी नागरिक चुनाव को चुनौती दे सकता है.”

अन्नामलाई द्वारा की गई गणना के मूल्‍य निर्धारण पर भारती ने कहा, “एलआईसी भवन दशकों पहले 87 करोड़ रुपये में बनाया गया था. अब यह हजारों करोड़ रुपये का है. हमारे सभी नेता अदालत का रुख करेंगे और उन्हें अदालतों में पेश होना होगा.”

‘सीबीआई 2014 से क्‍या कर रही है?’

आरएस भारती ने 200 करोड़ रुपये की रिश्वत के आरोपों को साबित करने के लिए भाजपा नेता को उनके खिलाफ मामला दर्ज करने की चुनौती दी है. साथ ही चेन्नई मेट्रो रेल में कथित भ्रष्टाचार पर कहा कि केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई 2014 से क्या कर रही है?

उन्होंने कहा, “अन्नामलाई के आरोपों के कारण डीएमके की संभावनाओं पर कोई असर नहीं पड़ेगा, यह हमें सभी 40 सीटें जीतने में मदद करेगा.” उन्होंने सवाल किया कि अन्नामलाई के पास है क्या, अगर उन्हें सब कुछ दूसरों से मिलता है.”

भारती ने कहा, “मैं अन्नामलाई को चुनौती देता हूं कि वह डीएमके के स्वामित्व वाले स्कूलों और कॉलेजों के दस्तावेज 15 दिनों में पेश करें.”

India Core News

By admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *