• Mon. Jul 22nd, 2024

UP-सुल्तानपुर में ऐतिहासिक बिजेथुआ महावीरन धाम को राष्ट्रीय पर्यटन स्थल घोषित करने की क़वायद हुई तेज़

यूपी के सुल्तानपुर में बिजेथुआ महावीरन धाम को राष्ट्रीय पर्यटन स्थल घोषित किए जाने की कवायदे तेज हो गई है।
सुल्तानपुर जिले के कादीपुर तहसील क्षेत्र के विजेथुआ महावीरन धाम को राष्ट्रीय पर्यटन स्थल घोषित किए जाने की कवायदें तेज हो गई है। बिजेथुआ महावीरन धाम को पर्यटन विभाग ने रामायण सर्कल में तीन वर्ष पूर्व ही जोड़ दिया था, इसके बाद से ही क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि इस स्थल को राष्ट्रीय पर्यटन स्थल घोषित करने की मांग निरंतर कर रहे हैं सांसद मेनका संजय गांधी एवं कादीपुर के भाजपा विधायक राजेश गौतम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर इसे राष्ट्रीय पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की मांग की है, दीप पर्व के पूर्व इस स्थल पर पहुंचे विजेथुआ महोत्सव के अवसर पर इस स्थल पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुरु कहे जाने वाले जगतगुरु राम भद्राचार्य ने भी क्षेत्रीय लोगों को भरोसा दिलाया है कि इस स्थल को जल्द ही राष्ट्रीय पर्यटन स्थल के रूप में घोषित कर दिया जाएगा।

जिला मुख्यालय से 65 किलोमीटर दूर इस स्थल पर जिले ही नहीं बल्कि देशभर के विभिन्न हिस्सों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु प्रतिदिन स्नान व हनुमान जी के दर्शन के लिए पहुंचते हैं, इस स्थल पर प्रत्येक मंगलवार व शनिवार को मेले का भी आयोजन किया जाता है दर्शन व पूजा अर्चना के लिए शनिवार एवं मंगलवार के दिन को विशेष माना जाता है।
पौराणिक ग्रंथों में उल्लेखित संदर्भों के अनुसार,राम रावण युद्ध के दौरान लक्ष्मण के मूर्छित होने के बाद रामभक्त हनुमान को मारने के लिए रावण ने कालनेमी नाम के मायावी राक्षस को भेजा था जो साधु के रूप में जब राम नाम का जप कर रहा था वायु मार्ग से उसी समय संजीवनी बूटी लेने जा रहे हनुमान जी को जब साधू की आवाज सुनाई पड़ी तो वह राम भक्त होने के भ्रम में उसकी कुटिया पर विश्राम के लिए रुक गए, सुबह जब वह मकर कुंड में स्नान के लिए कुंड में उतरे ही थे कि इस समय कालनेमि ने मगरमच्छ का रूप धारण करके राम भक्त हनुमान को निगलने की कोशिश की इसी समय हनुमान जी को उस मायावी राक्षस की माया का पता चल गया और हनुमान जी ने कालनेमी का इसी कुंड में वध कर दिया तभी से इस कुंड का महत्व बढ़ गया इसके बाद हनुमान जी यहां से वापस चले गए इसी कुंड के बगल में एक प्राचीन हनुमान मंदिर भी स्थित है जो कि देश भर के अन्य हनुमान मंदिर से अलग है, इस मंदिर में हनुमान जी का एक पैर जमीन में धसा हुआ है। लोगों की मान्यता है कि इस स्थल पर स्नान करने व हनुमान जी के दर्शन करने से उनकी समस्त मनोकामनाएं पूर्ण होती है।
इस स्थल पर पहुंचने के लिए सुल्तानपुर बस स्टेशन से सीधी बस सेवा की शुरुआत भी स्थानीय सांसद मेनका संजय गांधी ने दो वर्ष पूर्व ही कर दिया था जो की निरंतर चल रही है।
बिजेथुआ महावीरन धाम में मकर कुंड पर कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर देव दीपावली का भी आयोजन किया गया। इस अवसर पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ पड़ी थी।
इतिहासकार एवं वरिष्ठ पत्रकार राज खन्ना जी कहते हैं कि इस स्थल का जिले के गजेटियर में भी उल्लेख किया गया है उन्होंने बताया कि यदि इस स्थल को राष्ट्रीय पर्यटन स्थल के रूप में घोषित कर दिया जाए तो इसके आसपास के क्षेत्र का व्यापक स्तर पर विकास हो जाएगा उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के पट खोलने के बाद सुल्तानपुर जिले के रामायण सर्कल से जुड़े धोपाप घाट, दियरा के रामघाट की भी प्रासंगिकता बढ़ जाएगी और उन्हें पूरी उम्मीद है कि सरकार इन्हें पर्यटन स्थल का दर्ज जरूर देगी।

By admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *