• Fri. Jun 14th, 2024

शुक्र से नहीं गुजरा शुक्रवार,गंगा में डूबे 8 लोगो की हुई मौत,पुलिस ने घाटों में पर बढ़ाई पुलिस

Report By : Rishabh Singh, ICN Network

कानपुर में शुक्रवार को अलग-अलग गंगा के तीन घाटों पर नहाने के दौरान 8 लोगों की मौत हो गई। ताबड़तोड़ एक के बाद एक 12 घंटे के भीतर तीन बड़े हादसे हुए और गर्मी से राहत पाने के लिए गंगा में उतरे बच्चे और युवक अपनी जिंदगी से हाथ धो बैठे। इसके बाद कानपुर पुलिस कमिश्नरेट हरकत में आई और अब शनिवार से गंगा के सभी घाटों पर संबंधित थाने का फोर्स लगाने का निर्देश दिया गया है।

दूसरी तरफ हादसे में जान गंवाने वाले परिवार का दर्द सामने आया। गंगा में डूबने से मौत के बाद किसी के परिवार का अंतिम चिराग बुझ गया तो किसी के बुढ़ापे का सहारा चला गया। वहीं बाबा घाट पर तो डूबे तीन युवकों में दो की तलाश जारी है। इन तीनों शिनाख्त के लिए पुलिस प्रयास कर रही है।

कानपुर के बीच शहर सिविल लाइंस के पॉश इलाके के बाबा घाट पर शुक्रवार शाम को गंगा में नहाने के दौरान तीन युवक डूब गए। चीख-पुकार सुन घाट पर मौजूद लोगों ने कोतवाली थाने पर सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस को जांच के दौरान तीन जोड़ी कपड़े और एक जोड़ी जूता व दो जोड़ी चप्पल पड़ी मिली। कोतवाली पुलिस ने गोताखोरों को गंगा में उतारा तो दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद एक युवक का शव बरामद हुआ। जबकि अन्य दो युवकों का कोई सुराग नहीं मिला।

डीसीपी ईस्ट श्रवण कुमार सिंह ने बताया कि कपड़ों की तलाशी के दौरान एक युवक की जेब से बैंक की डिपॉजिट स्लिप मिली है। इसके जरिए उसका पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है। तीनों युवक गंगा में नहाने के दौरान डूब गए थे।

बिल्हौर के अरौल थाना क्षेत्र के आकिन पुरवा में रहने वाले हरि प्रसाद और फूलचंद सगे भाई हैं। दो बच्चे ज्ञान गौतम प्रिया और उनके भाई फूलचंद की बेटी एकता (6) घर में बिना बताए आकिन घाट पर नहाने पहुंच गए थे। सुबह 9:45 बजे नहाने के दौरान तीनों बच्चे गंगा में ज्यादा गहराई में उतर गए। तेज बहाव की चपेट में आने से गंगा में डूब गए।

हादसे के बाद परिवार में कोहराम मच गया। एक ही परिवार के तीन बच्चों की मौत ने पूरे परिवार को झकझोर दिया। फूलचंद ने बताया कि दो भाइयों के बीच में परिवार का इकलौता चिराग बुझ गया। हरिप्रसाद की चार बेटियां ज्योति, छोटी, बिट्टा, कोमल प्रिया और फूलचंद की पांच बेटियां अंजलि, सलोनी, कांति, एकता और काजल के बीच ज्ञान हरिप्रसाद का इकलौता बेटा था। जिसमें एकता, प्रिया और ज्ञान की डूबने से मौत हो गई।

शिवराजपुर के सरैय्या खेरेश्वर घाट में आनंद अवस्थी के बेटे श्लोक अवस्थी और सक्षम, राघवेंद्र बाजपेई का बेटा दीप बाजपेई तीनों गंगा नहाने गए थे।

इस दौरान तीनों गंगा में ज्यादा गहराई में उतरने से तेज बहाव की चपेट में आने से गंगा में डूबने लगे। चीख-पुकार सुन घाट पर मौजूद लोग दौड़े और सक्षम को तो बचा लिया, लेकिन दीप और श्लोक डूब गए। हादसे के बाद दोनों परिवार में कोहराम मच गया।

एडिशनल पुलिस कमिश्नर हरिश्चंद्र ने बताया कि शुक्रवार की घटना को देखते हुए ग्रामीण इलाकों में प्रधानों को जानकारी दी गई है कि वे गांव में जागरूकता करें। जो गांव गंगा किनारे हैं, वहां रस्सा बांधने के लिए कहा गया है। परिवार वालों को भी सतर्क किया जाएगा।

शहर में घाट किनारे मौजूद लोगों को जागरूक किया जाएगा और बोर्ड लगाए जाएंगे। इसके साथ ही जहां पर नहाने के लिए घाट नहीं बने हैं। वहां पर गंगा में नहाने के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके साथ ही संबंधित थाने की पुलिस फोर्स को भी एहतियातन तैनात रहने का निर्देश दिया गया है।

By admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *