• Sun. May 19th, 2024

UP : Kannauj की गोल्ड मेडल विजेता अंतरराष्ट्रीय लॉन बॉल्स प्लेयर मनु ने फिर बढ़ाया यूपी का गौरव, 37वें राष्ट्रीय खेल मे हिस्सा लेने पहुंची गोवा…

Report By : Pankaj Kumar Srivastava , Kannauj (UP)

Kannauj : अंतरराष्ट्रीय लॉन बाल्स प्लेयर मनु कुमारी पाल ने मलेशिया में आयोजित प्रतियोगिता में भारत को गोल्ड मेडल दिलाकर देश और राज्य के साथ-साथ जनपद का नाम रोशन किया था, जिसके बाद एक बार फिर से मनु ने उत्तर प्रदेश का गौरव बढ़ाने के लिए 37वें राष्ट्रीय खेल मे हिस्सा लेने गोवा पहुंची हुई है । जहां से उन्होने यह प्रतियोगिता मे जीत हासिल करने के लिए अपने दोस्तों और परिवार के लोगों से दावा भी किया है कि वह हर बार की तरह इस बार भी खेल मे जीत हासिल करते हुए देश और राज्य का नाम रोशन करेंगी ।

आपको बताते चलें कि मलेशिया में आयोजित मलेशियन ओपन ट्रिपल्स में भारत की तरफ से मनु पाल, पुतुल व मृदुल ने प्रतिभाग किया था। 28 अगस्त 2019 से एक सितंबर 2019 तक हुए इस आयोजन में विभिन्न देशों की कुल 48 टीमों ने प्रतिभाग किया था, जिसमे कन्नौज की बेटी मनु ने क्वार्टर फाइनल में कोरिया को 35-09 से हराकर सेमीफाइनल प्रवेश करने के बाद हांगकांग को 23-10 से पराजित किया था । इसके बाद मनु कुमारी पाल ने फाइनल मैच में मलेशिया को 16-09 से हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम करते हुए जीत हासिल की थी। इस बार फिर से उन्होंने अपनी प्रतिभा को दिखाते हुए 37वें राष्ट्रीय खेल में प्रतिभाग करने के लिए गोवा पहुंची हुई है। उनका कहना है कि इस प्रतियोगिता को भी वह पहले की तरह जीत हासिल कर उत्तर प्रदेश का गौरव बढ़ाएँगी ।

राष्ट्रीय युवा शक्ति सम्मान व यश भारतीय सम्मान से हुई सम्मानित

खिलाड़ी मनु कुमारी पाल की प्रतिभा को लेकर उन्हे कई बार सम्मानित किया जा चुका है । उत्तर प्रदेश मे सपा सरकार के समय उन्हे लखनऊ मे बुलाकर राष्ट्रीय युवा शक्ति सम्मान से यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सम्मानित किया था। यह सम्मान उत्तर प्रदेश मे कला, खेल, लीडर शिप, संगीत व सामाजिक सेवा के क्षेत्र में उत्क्रष्ट कार्य करने वाले युवाओं को दिया जाता है । इससे पूर्व भी मनु कुमारी पाल को यश भारतीय पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है ।

पिता बोले बेटी ने किया नाम रोशन

मनु के पिता रामनारायण पाल का कहना है कि उनकी बेटी ने परिवार व क्षेत्र के साथ देश का नाम हमेशा रोशन किया है। ऐसी बेटी के पिता होने पर वह अपने को बेहद गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। बताते चलें कि इससे पहले भी मनु ने देश को कई मेडल दिए हैं, साथ ही वह नारी सशक्तिकरण की दिशा में भी काम कर रहीं हैं।

फाइनेंशियल प्राबलम बनती है रोड़ा

फोन पर बातचीत करते हुए खिलाड़ी मनु कुमारी पाल ने बताया है कि वह एक छोटे से कस्बे छिबरामऊ की रहने वाली है जिससे उनके आगे सबसे बड़ी फाइनेंशियल प्राबलम होती है क्योंकि उनके पास कोई जाॅब नही है और किसी से कोई सपोर्ट भी नही मिल रहा है जो भी खर्चा आने जाने और प्रतिभाग करने मे आता है वह पापा ही करते है। चाहें वह किसी प्रकार से लोन लेकर करें या कैसे भी क्यों कि उनको सिर्फ पेंशन ही मिलती है वह सीआरपीएफ से रिटायर्ड है तो उनकी कोशिश रहती है कि शायद मेरे लिए कहीं कमी न आये जितना भी हो सके वह मेरे लिए हर कमी पूरी करने की कोशिश करते है। अभी तक कोई भी हेल्प नही मिली है, जिससे उनको फाइनेंशियल प्राबलम का सामना करना पड़ता है ।

By admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *