• Fri. Jun 14th, 2024

नोएडा में जेवर एयरपोर्ट के साथ रेलवे स्टेशन बनाया जाएगा, दिल्ली ,कोलकाता और चेन्नई जाने वाले यात्रियों को मिलेगी सुविधा

Report By : Ankit Srivastav, ICN Network

नोएडा एयरपोर्ट के साथ अब जेवर रेलवे स्टेशन भी बनाया जाएगा। यहां से मुसाफिर दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई जा सकेंगे। ये स्टेशन मुख्य जंकशन होगा। इसके लिए बुलंदशहर के चोला से पलवल के रूंधी तक 61 किमी लंबा एक रेलवे ट्रैक बिछाया जाएगा।

ये लाइन हावड़ा नई दिल्ली लाइन को चोला और चेन्नई-दिल्ली मेन लाइन को रूंधी पर जोड़ेगा। पूरे प्रोजेक्ट की कास्ट 2400 करोड़ रुपए होगी। ये लाइन शुरुआत में 1.2 लाख मुसाफिर को फायदा देगा। इस लाइन की फाइनल डीपीआर अभी तैयार की जाएगी।

इस लाइन में 5 रेलवे फ्लाई ओवर बनेंगे। जिसमें 2 फ्लाई ओवर चेन्नई से नई दिल्ली लाइन और 3 हावड़ा से नई दिल्ली के बीच बनेंगे। ये लाइन दो स्टेट उत्तर प्रदेश और हरियाणा से होकर जाएगी। सितंबर में नोएडा एयरपोर्ट के फंक्शन होने के बाद ये रेलवे लाइन काफी महत्वपूर्ण होगी।

पहली मुसाफिर के लिहाज से दूसरी कार्गो के लिए। उत्तर मध्य रेलवे ने इसका प्रेजेंटेशन दिया था। जिसमें नए ट्रैक को एक भूमिगत चैनल के माध्यम से हवाई अड्डे के ग्राउंड ट्रांसपोर्टेशन सेंटर से जोड़ने का सुझाव है।

इंटर कनेक्टेड लाइन के साथ कुल ट्रैक की लंबाई 98.80 किमी है। जिसमें मुख्य ट्रैक (61 किमी) चोला और रूंधी के बीच होगा। इसकी लागत लगभग 2400 करोड़ रुपए होगी और निर्माण शुरू होने के बाद इसे पूरा करने में तीन साल लगेंगे। मुख्य लाइन से रूंधी को जोड़ने वाली लाइन पर 19.20 किमी और चोला में मुख्य लाइन को जोड़ने वाली इंटर कनेक्ट लाइन की लंबाई 18.60 किमी होगी।

रेलवे जंकशन नोएडा एयर पोर्ट टर्मिनल से सीधे कनेक्ट होगा। प्रपोस्ड लाइन के जरिए आगरा दिल्ली वाया फरीदाबाद और गाजियाबाद अलीगढ़ वाया नई दिल्ली जाया जा सकता है। ये रूट दादरी में प्रस्तावित मल्टी मॉडल ट्रांजिट हब का हिस्सा भी होगा। इस नए रूट पर वंदे भारत जैसी हाई स्पीड ट्रेन चलाई जा सकती है। साथ ही जेवर खादर में एक कार्गो यार्ड खोलने पर भी विचार किया जा रहा है। जिसे इस लाइन से जोड़ा जा सकता है।

ट्रांसपोर्ट हब से भी रेलवे लाइन जोड़ी जाएगी दादरी के बोड़ाकी में मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्ट हब प्रस्तावित है। यहां ट्रेन, मेट्रो, अंतरराज्यीय बस अड्डा की सुविधाएं विकसित होनी हैं। बोड़ाकी के पास रेलवे टर्मिनल बनेगा। इसके बनने के बाद पूर्व की ओर जाने वाली अधिकतर ट्रेन यहीं से चलेंगी।

By admin

Journalist & Entertainer Ankit Srivastav ( Ankshree)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *